कोरोना – जारी हुआ स्कूलों को आंशिक रूप से खोलने का गाइड लाइन

0
537
views

कोरोना के मध्य स्कूलों को आंशिक रूप से खोलने का गाइड लाइन जारी कर दिया गया है। ज्ञात हो कि कोविड-19 महामारी की वजह से मार्च से ही स्कूल बंद हैं और अब इन्हें आंशिक रूप से ही सही लेकिन खोलने का दिशा निर्देश जारी किया गया है।

मंगलवार को भारत सरकार के केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने 21 सितंबर से 9वीं से लेकर 12वीं तक की कक्षाओं के छात्र छात्राओ हेतु विद्यालय को आंशिक रूप से खोलने की इजाजत दे दी है, हालांकि छात्र छात्राओं को स्कूल जाने के लिए बाध्य नहीं किया जा सकेगा।

अगर वह स्कूल जाना चाहते हैं तो उनको अपने माता-पिता की लिखित सहमति लेकर के स्कूल जाना होगा। फिर भी इन सब के लिए भी कुछ शर्ते लागू की गई है जिनका उनको विशेष ध्यान रखना होगा।

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा जारी किए गए स्टैंडर्ड ऑपरेटिंग प्रोसीजर में हर छोटी छोटी बात का ध्यान रखा गया है जिनमे से महत्वपूर्ण बातें हम यहां बता रहे हैं-

1.छात्र-छात्राओं को फेस मास्क पहनना अनिवार्य होगा और उन्हें यह सुनिश्चित करना होगा कि उनका नाक और मुंह अच्छी तरह से ढका हुआ है।

2. सभी बच्चों को एक दूसरे से कम से कम 2 गज या 6 फुट की दूरी बनाए रखनी होगी चाहे वह क्लास में हो लिफ्ट में, पार्किंग में या फिर कॉरीडोर में कहीं पर भी हों।

3. खाँसते व छींकते समय उन्हें अपना मुंह और नाक अच्छी तरह से ढक कर रखना होगा और सार्वजनिक स्थानों पर थूकना मना होगा।

4. स्कूल में अगर किसी छात्र छात्रा को अपने तबीयत में कुछ गड़बड़ी का एहसास होता है तो उन्हें तुरंत किसी टीचर या विद्यालय प्रशासन को इसके बारे में जानकारी देनी होगी।

5. कंटेनमेंट जोन के अंदर आने वाले स्कूलों में बच्चों और शिक्षकों को जाने की अनुमति नहीं होगी तथा ऐसे स्कूल नहीं खुल सकेंगे। साथ ही किसी भी कंटेनमेंट जोन में आने वाले बच्चों या शिक्षकों को किसी गैर कंटेनमेंट जोन में मौजूद स्कूल में भी आने की इजाजत नहीं होगी।

6. स्कूल प्रशासन को स्कूलों को खोलने से पहले पूरी तरह से सैनिटाइज करना होगा और उन जगहों पर बार-बार सफाई करनी होगी जहां पर टीचर और छात्र बैठकर बातचीत करेंगे।

7. अगर किसी स्कूल को पहले कभी भी क्वॉरेंटाइन सेंटर के रूप में इस्तेमाल किया गया है तो उन स्कूलों को खासतौर पर सैनिटाइज करना होगा।



8. स्कूलों को आंशिक रूप से खोलने की अनुमति देने के साथ ही सरकार ने कहा है कि ऑनलाइन पढ़ाई जारी रहेगी और इसे बढ़ावा भी दिया जाएगा। इसी क्रम में यह भी निर्देश दिया गया है कि ऑनलाइन क्लास शुरू करने या फिर स्कूल में आने वाले छात्रों को पढ़ाने या मार्गदर्शन देने हेतु 50% से ज्यादा शिक्षक या अन्य स्टाफ नहीं बुलाया जा सकेंगे।

9. स्कूलों में असेंबली पर पूरी तरह प्रतिबंध होगा साथ ही अगर वहां पर स्विमिंग पूल हैं तो उनमे भी बच्चों को जाने की अनुमति नहीं होगी। इसके अलावा खेलकूद से जुड़ी अन्य गतिविधियों पर भी पाबंदी जारी रहेगी।

10. स्कूल में प्रवेश करने से पहले स्कूल गेट पर थर्मल स्क्रीनिंग अनिवार्य होगी जिसमें छात्रों और शिक्षकों के तापमान की जांच की जाएगी.

11. बिना किसी लक्षण वाले व्यक्ति को ही अंदर जाने की अनुमति होगी और अगर किसी ने कोरोना वायरस लक्षण थोड़े से भी होंगे तो उन्हें तुरंत पास के हेल्थ सेंटर में जांच हेतु भेजा जाएगा।

12. अगर किसी स्कूल में ज्यादा छात्र हैं तो वहां पर भीड़ ना हो इसलिए भीड़ से बचने के लिए अलग-अलग समय पर छात्रों को स्कूल बुलाया जा सकेगा।

13. छात्रों को आपस में किसी भी तरह के लेनदेन जैसे कि नोट बुक पेन पेंसिल रबड़ वाटर बोतल या किसी भी इस तरह की सामग्री को अदला-बदली करने की अनुमति नहीं होगी।

14. जिन स्कूलों में बस की सुविधा उपलब्ध है उनमें बच्चों को बैठ आते समय सोशल डिस्टेंसिंग का ख्याल रखा जाएगा साथ ही नहीं बसों की साफ-सफाई और सैनिटाइजेशन का खासतौर पर ध्यान रखा जाएगा।

ज्यादा जानकारी के लिए आप स्वास्थ्य मंत्रालय की तरफ से जारी एसओपी यानी स्टैंडर्ड ऑपरेटिंग प्रोसीजर को ठीक से पढ़ सकते हैं जिसमें हर छोटी छोटी बात के बारे में ध्यान दिया गया है और विस्तार से बताया गया है।

अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करें

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here